कंप्यूटर में C drive होता है ,A और B drive क्यों नहीं होता है




जो लोग कंप्यूटर या लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं वो कंप्यूटर के स ड्राइव के बारे में भी ज़रूर जानते होंगें ! अलग अलग कंप्यूटर में ड्राइव की संख्या अलग अलग होती है ! वैसे नए कंप्यूटर में सिर्फ एक ही ड्राइव होता है जिसको computer users बाद में कई ड्राइव में बाँट देते हैं !



किसी भी कंप्यूटर में चाहे जितने भी ड्राइव हो ,कंप्यूटर का ऑपरेटिंग सिस्टम हमेशा C ड्राइव में ही इंसटाल होता है इसके आलावा कंप्यूटर का डिफाल्ट सेविंग पाथ भी C drive ही होता है,यानी USERS इंटरनेट से जब कोई files ,photo या video डाउनलोड करते हैं तो वो डिफाल्ट रूप से C ड्राइव में ही सेव होता है !

floppy drive

कंप्यूटर में A और B drive क्यों नहीं होता है 

किसी भी कंप्यूटर में एक drive हो या एक से ज़यादा ड्राइव के नाम की शुरुवात C ड्राइव से ही होती है ! अगर एक से ज़यादा ड्राइव हैं तो C ड्राइव ,D drive ,E होते हैं लेकिन A और B drive नहीं होते हैं ! क्या कभी आप ने सोचा है की ऐसा क्यों होता है ? आज मै आप को इस पोस्ट के द्वारा ये बताऊंगा !


कहानी C ड्राइव की 

कंप्यूटर का जब अविष्कार हुवा तब कंप्यूटर में डाटा स्टोर करने के लिए ज्यादा स्पेस नहीं हुआ करती थी !शुरुवाती दौर में कंप्यूटर में किसी भी डाटा को सेव करने के लिए floppy drive का इस्तेमाल किया जाता था और इन्हीं फ्लॉपी डिस्क को A ड्राइव कहा जाता था ! ये floppy drive दो साइज की हुवा करती थीं एक 5.5 floppy drive और दूसरी 3.5 floppy drive और इन्हें A ड्राइव और B ड्राइव के नाम से जाना जाता था !



वक़्त के साथ कंप्यूटर में HARD DISK लग्न शुरू हो गया ,शुरुवाती हार्ड डिस्क में बहुत काम स्पेस होता था लेकिन बाद में हार्ड डिस्क में सुधार हुवा और इसकी मेमोरी छमता बढ़ती गई ! 80 के दसक में हार्ड डिस्क का इस्तेमाल लगभग हर कंप्यूटर में होने लगा और इसको C ड्राइव कहा जाने लगा ,क्यों की अभी भी कंप्यूटर में A और B ड्राइव के नाम से floppy drive का इस्तेमाल होता था ! इसके बाद से धीरे धीरे फ्लॉपी डिस्क का इस्तेमाल बंद हो गया और पूरी तरह से हार्ड डिस्क का इस्तेमाल होने लगा !


क्या C ड्राइव का नाम बदला जा सकता है

अगर कंप्यूटर ऊसर चाहें तो अपने कंप्यूटर के किसी भी ड्राइव का नाम अपने अनुसार बदल सकते हैं ! इसके लिए रजिस्ट्री एडिट करना पड़ता है जो एक मुश्किल और जोखिम भरा काम है ! computer drive का नाम बदलने के लिए बहुत सारे सॉफ्टवेयर भी आते हैं जिनके द्वारा कोई भी बहुत आसानी से अपने कंप्यूटर के किसी भी ड्राइव का नाम बदल सकते हैं !


Royal Challengers Bangalore‬, ‪Kings XI Punjab‬, ‪2017 Indian Premier League‬‬


Share on Google Plus

About Faiyaz Ahmad

siwanrinku.blogspot.in के सभी content मेरे द्वारा उन लोगो के लिए लिखे गए हैं जिन्हें English समझने में परेशानी होती है, blogger के इस blog पर लिखे गए सारे contents लिखते समय content सम्बंधित websites, books, E-tutorial, library आदि की सहायता ली गई है , इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिन्दी माध्यम के छात्रों की हर संभव मदद करना है
    Blogger Comment
    Facebook Comment

1 टिप्पणियाँ:

रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल रविवार (07-05-2017) को
"आहत मन" (चर्चा अंक-2628)
पर भी होगी।
--
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
--
चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
सादर...!
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक

see also