क्या आप जानते हैं ATM से Latest Indian Currency क्यों नहीं मिल पा रही हैं

नोटबंदी के चार दिन  

जब से सरकार ने 500 और 1000 के पुराने (old indian currency notes) नोट बंद किये हैं तब से लोग परेशान हैं! सब के चेहरे मुरझाये हुवे हैं ! रूपये की कमी के कारण मरीजों को इलाज कराने में परेशानी हो रही है !पहले तो लोगों ने सोचा था के atm machine जब चालू हो जायेगा तो नोटों (latest indian currency) की समस्या बहुत जल्द ख़तम हो जाएगी लेकिन note बंदी के दो दिन के बाद लोगों को पता चल रहा है की अभी कुछ और दिन तक atm machine से latest indian currency नहीं निकलेगी !
latest indian currency

आखिर क्यों indian bank atm machine से latest indian currency नहीं दे पा रहें है ?

हमारे देश में जितनी भी atm machine लगी हुई हैं उन सब की सेटिंग पुराने नोट (indian old money ) के अनुसार है ! जब की नए नोट (latest indian currency) साइज़ में पुराने नोट (old indian currency notes) से छोटे और वज़न में कम हैं ! इसलिए वजन और साइज में अतंर की वजह से ATM में दिक्कतें आ रही हैं ! सरकार के अनुसार इस परेशानी को पूरी तरह से दूर करने में अभी कुछ हफ़्तों का वक़्त लगेगा ! नोटबंदी के चौथे दिन देश भर के सिर्फ 40% atm काम कर रहें हैं जिनमे लम्बी लम्बी कतारें लगी हुई हैं ! 

इसे भी पढ़ें :-


>
Keyword:-indian currency rate today,indian rupees,old indian currency notes,indian old currency,indian old money,latest indian currency,old indian currency,old indian currency notes,bank atm fees,atm maximum deposit,make money online,savings accounts,savings interest rates,open bank account online,best bank accounts,open a bank account online,online savings account,payment gateway india,rupay online recharge,rupay debit card mobile recharge,payment gateway india,online recharge with rupay debit card,indian credit card rupay,rupay debit card mobile recharge,

Share on Google Plus

About Faiyaz Ahmad

siwanrinku.blogspot.in के सभी content मेरे द्वारा उन लोगो के लिए लिखे गए हैं जिन्हें English समझने में परेशानी होती है, blogger के इस blog पर लिखे गए सारे contents लिखते समय content सम्बंधित websites, books, E-tutorial, library आदि की सहायता ली गई है , इस ब्लॉग को बनाने का मुख्य उद्देश्य हिन्दी माध्यम के छात्रों की हर संभव मदद करना है
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 टिप्पणियाँ:

see also